इस तरह खाएंगे आम तो नहीं बढ़ेगा वजन

By: एजेंसी
Updated: 26 Apr 2018 07:21 PM

नई दिल्लीः गर्मी का मौसम आते ही छुट्टियां, अलसाई दोपहर और आम की मीठी यादें ताजा होने लगती हैं. लेकिन बच्चों और वृद्धों के इस पसंदीदा फल में मौजूद शर्करा की मात्रा के कारण इसे वजन बढ़ने का कारण माना जाता है, जिसके चलते आम के शौकीनों के मन में अकसर यह दुविधा होती है कि क्या आम खाने से वास्तव में वजन बढ़ता है? न्यूट्रिशनिस्ट सौम्या शताक्षी ने आम खाने के तरीकों और और इसे खाने के दौरान याद रखने वाली बातें बताई हैं.




  • आम एक संपूर्ण आहार नहीं है लेकिन विटामिन ए, लौह, कॉपर और पोटैशियम जैसे विभिन्न पोषक तत्वों की खान है.

  • आम ऊर्जा देने वाला भोजन है जो शरीर को प्रचुर मात्रा में शर्करा उपलब्ध कराता है जिससे शरीर के ऊर्जा स्तर को बढ़ाने में सहायता मिलती है और यह आपको दिन भर स्फूर्तिवान रखता है.

  •  यह विटामिन सी का भंडार है जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और इसमें फाइबर भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है.

  • बहुत ज्यादा आम खाना भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकता है.

  • एक मध्यम आकार के आम में लगभग 150 कैलोरीज पाई जाती हैं. आवश्यकता से अधिक कैलोरी ग्रहण करने से वजन बढ़ेगा ही.

  • खाना खाने के बाद आम खाने से संपूर्ण कैलोरी की मात्रा बढ़ जाती है. इससे बचने के लिए हम अपने सुबह और शाम के नाश्ते के समय आम ले सकते हैं.


ये रिसर्च के दावे पर हैं. ABP न्यूज़ इसकी पुन क्रूुष्टि नहीं करता. आप किसी भी सुझाव पर अमल या इलाज शुरू करने से पहले अपने एक्सपर्ट की सलाह जरूर ले लें.

World Cup 2019

ABP Ganga

दिल्ली पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

New post added in sports-

उरी: सर्जिकल स्ट्राइक स्टार विक्की कौशल इस तरह सेलिब्रेट करेंगे अपना 31 बर्थडे

Sports test postt-

अली जफर के वेब शो में सलमान खान करेंगे डिजिटल में एंट्री

पीएम का जयापुर कितना बदला है, एबीपी गंगा की रिपोर्ट

पीएम मोदी के गोद लिये गांव जयापुर का हाल क्या है। एबीपी गंगा ने एक रिपोर्ट तैयार की है। विकास कार्य नहीं हुए ऐसा नहीं कहा जा सकता लेकिन अभी भी स्वास्थ और पीने का पानी को लेकर काफी काम किया जाना बाकी है।

पीएम मोदी के गोद लिये गांव जयापुर का हाल क्या है। एबीपी गंगा ने एक रिपोर्ट तैयार की है। विकास कार्य नहीं हुए ऐसा नहीं कहा जा सकता लेकिन अभी भी स्वास्थ और पीने का पानी को लेकर काफी काम किया जाना बाकी है।

पीएम का जयापुर कितना बदला है, एबीपी गंगा की

पीएम मोदी के गोद लिये गांव जयापुर का हाल क्या है। एबीपी गंगा ने एक रिपोर्ट तैयार की है। विकास कार्य नहीं हुए ऐसा नहीं कहा जा सकता लेकिन अभी भी स्वास्थ और पीने का पानी को लेकर काफी काम किया जाना बाकी है।