मालेगांव विस्फोट मामला: NIA कोर्ट में पेश हुईं प्रज्ञा ठाकुर, जज के सवाल पर कहा- मुझे कुछ नहीं पता

मालेगांव विस्फोट मामला: NIA कोर्ट में पेश हुईं प्रज्ञा ठाकुर, जज के सवाल पर कहा- मुझे कुछ नहीं पता

By: Raminderpreet Kaur
 | Updated: 07 Jun 2019 04:51 PM
malegaon-blast-case-sadhvi-pragya-appears-in-nia-court-in-mumbai-1144414
By: Raminderpreet Kaur
Updated: 07 Jun 2019 04:51 PM
मामले में ठाकुर और लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद पुरोहित सहित सात लोग आरोपों का सामना कर रहे हैं. मालेगांव में 29 सितंबर 2008 को एक मस्जिद के पास हुए मोटर साइकिल से बंधे बमों में विस्फोट में छह लोग मारे गए थे और 100 से अधिक घायल हुए थे. पुलिस के अनुसार मोटरसाइकिल ठाकुर के नाम से पंजीकृत थी ओर इसी आधार पर उनकी 2008 में गिरफ्तारी हुई. बंबई हाईकोर्ट ने उन्हें 2017 में जमानत दे दी थी.











































Modi BJP Rahul Gandhi AAP India
Seat 1 2 2 2 2
Rank 1 1 1 1 1
Seat 1 4 5 5 5
India 4 4 4 4 4

चुनावी सुधार के लिये काम करने वाले संस्था एंटी डैमोक्रेटिक रिफार्म यानी एडीआर चुनाव के बाद उम्मीदवारों के आपराधिक ब्यौरे का अखबार और टीवी में इश्तिहार ना देने पर कोर्ट का दरवाजा खटखटायेगी।
























Party Name BJP Congress AAP
a b c d
e f g h

कल देशभर में तीसरे चरण के मतदान में यूपी की 10 लोकसभा सीटों मुरादाबाद, रामपुर, बरेली, पीलीभीत, आंवला, मैनपुरी, फिरोजाबाद, मैनपुरी, एटा, संभल और बदांयू पर वोट डाले जायेंगे। तीसरे चरण में 120 प्रत्याशियों में 24 उम्मीदवारों पर अपराधिक मामले दर्ज हैं। जिनमें 19 उम्मीदवारों पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। सर्वाधिक गंभीर आपराधिक दर्ज वाले उम्मीदवारों में सपा नेता आजम खान पर 10 अपराधिक मामले दर्ज हैं। जिनमें 15 गंभीर अपराध की धाराएं शामिल हैं। आजम खान के अलावा चौधरी बशीर और बरेली से चुनाव लड़ रहे जावेद खान पर मामले दर्ज हैं।
























BJP Congrss AAP Yogi
1 1 1 1
1 1 1 1

अदालत ने ठाकुर और दूसरे आरोपी सुधाकर द्विवेदी को कटघरे में बुलाया और पूछा कि क्या वे मालेगांव बम धमाके के बारे में जानते हैं जिसमें छह लोग मारे गए थे तो इसका उत्तर देते हुये उन्होंने कहा, 'मुझे जानकारी नहीं है.' द्विवेदी ने यही उत्तर दिया. भोपाल से पिछले महीने लोकसभा सांसद निर्वाचित होने के बाद ठाकुर की एनआईए अदालत में यह पहली पेशी है. इस मामले में आरोप तय होने के बाद बीते साल अक्टूबर में वह अंतिम बार हाजिर हुईं थीं. न्यायाधीश ने तब कहा था कि केवल ठोस कारण दिए जाने पर ही पेशी से छूट दी जाएगी.

ठाकुर के बैठने के लिए एक लाल वेलवेट का कपड़ा बिछाया गया था
ठाकुर के बेंच पर आराम से बैठने के लिए एक लाल वेलवेट का कपड़ा बिछाया गया था. जब जज ने उनसे कटघरे में आने को कहा तो उन्होंने जवाब दिया कि वह अदालत के द्वारा दी गई कुर्सी पर बैठने के बजाए खिड़की की तरफ खड़ी रहेंगी. इस 11 साल पुराने विस्फोट मामले में एनआईए अदालत में मुकदमा चल रहा है. विशेष अदालत ने सोमवार को ठाकुर की उस याचिका को खारिज कर दिया था जिसमें उन्होंने इस हफ्ते पेशी से छूट की मांग की थी.

ठाकुर (49) ने इस आधार पर छूट मांगी थी कि उन्हें संसद में अपने निर्वाचन से संबंधित औपचारिकताएं पूरी करनी हैं
लेकिन अदालत ने कहा कि मामले में इस चरण में उनकी मौजूदगी आवश्यक है. उनके वकील प्रशांत मागू ने गुरुवार को अदालत को बताया कि उनकी मुवक्किल उच्च रक्तचाप से पीड़ित हैं और भोपाल से मुंबई आने में असमर्थ हैं. अदालत ने उन्हें उस दिन पेशी से छूट दे दी और कहा कि वह उसके समक्ष शुक्रवार को पेश हों.

जज ने कहा था, ''आज (गुरुवार) पेशी से छूट दी जाती है. लेकिन उन्हें शुक्रवार को पेश होना होगा, अन्यथा उन्हें परिणाम भुगतने होंगे.'' ठाकुर की करीब सहयोगी उपमा ने बताया कि सांसद को बुधवार की रात पेट में तकलीफ के चलते भोपाल में अस्पताल में भर्ती कराया गया और गुरुवार की सुबह उन्हें छुट्टी दे दी गई. अदालत मामले में गवाहों की गवाही दर्ज कर रही है.

मामले में सात लोग आरोपों का सामना कर रहे हैं
मामले में ठाकुर और लेफ्टिनेंट कर्नल प्रसाद पुरोहित सहित सात लोग आरोपों का सामना कर रहे हैं. मालेगांव में 29 सितंबर 2008 को एक मस्जिद के पास हुए मोटर साइकिल से बंधे बमों में विस्फोट में छह लोग मारे गए थे और 100 से अधिक घायल हुए थे. पुलिस के अनुसार मोटरसाइकिल ठाकुर के नाम से पंजीकृत थी ओर इसी आधार पर उनकी 2008 में गिरफ्तारी हुई. बंबई हाईकोर्ट ने उन्हें 2017 में जमानत दे दी थी.
पाकिस्तान पर भड़के रक्षा एक्सपर्ट जीडी बख्शी,बताया आतंक को मुंहतोड़ जवाब देने का तरीका

पाकिस्तान पर भड़के रक्षा एक्सपर्ट जीडी बख्शी,बताया आतंक को मुंहतोड़ जवाब देने का तरीका

पुलवामा आतंकी हमले के विरोध में मुंबई में कल कपड़ा बाजार बंद करने का एलान

पुलवामा आतंकी हमले के विरोध में मुंबई में कल कपड़ा बाजार बंद करने का एलान

पुलवामा अटैक पर भड़की अभिनेत्री, कहा- जब भारत ने अंग्रेजों को खदेड़ दिया, ये आतंकी तो चूहे हैं

पुलवामा अटैक पर भड़की अभिनेत्री, कहा- जब भारत ने अंग्रेजों को खदेड़ दिया, ये आतंकी तो चूहे हैं

पुलवामा आतंकी हमले पर गमगीन हुआ बॉलीवुड, साझा किया अपना दर्द, देखें ये इंटरव्यू

पुलवामा आतंकी हमले पर गमगीन हुआ बॉलीवुड, साझा किया अपना दर्द, देखें ये इंटरव्यू

test story 4

test story 4

पुलवामा हमले में शहीद 40 जवानों की शहादत को सलाम । जानिए उन सभी जांबाज वीर जवानों के बारे में

पुलवामा हमले में शहीद 40 जवानों की शहादत को सलाम । जानिए उन सभी जांबाज वीर जवानों के बारे में

पुलवामा आतंकी हमले में यूपी के 12 'लाल' हुए शहीद, देखें ये रिपोर्ट

पुलवामा आतंकी हमले में यूपी के 12 'लाल' हुए शहीद, देखें ये रिपोर्ट

पुलवामा आतंकी हमले की 6 महीने पहले से तैयारी कर रहा था आतंकी मसूद अजहर, देखिए ये रिपोर्ट

पुलवामा आतंकी हमले की 6 महीने पहले से तैयारी कर रहा था आतंकी मसूद अजहर, देखिए ये रिपोर्ट

सिर जो तेरा चकराए तो दर्द को यूं कहें बाय-बाय, नेता जी का खास ख्याल रखेंगी ये गोलियां

सिर जो तेरा चकराए तो दर्द को यूं कहें बाय-बाय, नेता जी का खास ख्याल रखेंगी ये गोलियां

HINDI POST

HINDI POST

ABP Ganga

दिल्ली पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

New post added in sports-

उरी: सर्जिकल स्ट्राइक स्टार विक्की कौशल इस तरह सेलिब्रेट करेंगे अपना 31 बर्थडे

Sports test postt-

अली जफर के वेब शो में सलमान खान करेंगे डिजिटल में एंट्री

पीएम का जयापुर कितना बदला है, एबीपी गंगा की रिपोर्ट

पीएम मोदी के गोद लिये गांव जयापुर का हाल क्या है। एबीपी गंगा ने एक रिपोर्ट तैयार की है। विकास कार्य नहीं हुए ऐसा नहीं कहा जा सकता लेकिन अभी भी स्वास्थ और पीने का पानी को लेकर काफी काम किया जाना बाकी है।

पीएम मोदी के गोद लिये गांव जयापुर का हाल क्या है। एबीपी गंगा ने एक रिपोर्ट तैयार की है। विकास कार्य नहीं हुए ऐसा नहीं कहा जा सकता लेकिन अभी भी स्वास्थ और पीने का पानी को लेकर काफी काम किया जाना बाकी है।

पीएम का जयापुर कितना बदला है, एबीपी गंगा की

पीएम मोदी के गोद लिये गांव जयापुर का हाल क्या है। एबीपी गंगा ने एक रिपोर्ट तैयार की है। विकास कार्य नहीं हुए ऐसा नहीं कहा जा सकता लेकिन अभी भी स्वास्थ और पीने का पानी को लेकर काफी काम किया जाना बाकी है।